शेखर कपूर बोले ‘भारत में मैं शरणार्थी की तरह, जावेद अख्तर ने ऐसे किया रिएक्ट

0

फिल्म निर्देशक शेखर कपूर और जावेद अख्तर के बीच सोशल मीडिया पर जंग छिड़ गई हैंl फिल्म निर्देशक शेखर कपूर ने सोशल मीडिया पर अपना दर्द व्यक्त करते हुए लिखा कि वह आज भी भारत में बुद्धिजीवियों के कारण शरणार्थी के तौर पर जीवन जी रहे हैंl

इसके अलावा उन्होंने बुद्धिजीवियों को सांप कहा हैंl इसके बाद जावेद अख्तर ने सोशल मीडिया पर ही उनके इस ट्वीट पर आपत्ति जताते हुए उन्हें मनोचिकित्सक को दिखाने की बात कही हैंl

फिल्म निर्देशक शेखर कपूर ने सोशल मीडिया पर अपना दर्द व्यक्त करते हुए लिखा, ‘भारत के विभाजन के समय जीवन एक शरणार्थी के तौर पर शुरू हुआl माता-पिता ने मेरा जीवन बनाने के लिए सब कुछ अर्पण कर दियाl

मैं ‘बुद्धिजीवी वर्ग’ से सदा डरता रहाl बुद्धिजीवी वर्ग ने मुझे सदा अधूरा और छोटा महसूस करवाया और जब मेरी फिल्म चल पड़ी तो वहीं लोग मेरी सराहना करने लगेl मैं आज भी बुद्धिजीवी वर्ग से डरता हूंl बुद्धिजीवी वर्ग की सराहना सांप के दंश के समान होती है और मैं आज भी एक शरणार्थी हूंl’

इस पर जावेद अख्तर ने रिएक्ट करते हुए कहा, ‘आप अपने आप को ही कांट्राडिक्ट कर रहे हैंl वह कौन से बुद्धिजीवी हैं जिन्होंने आपकी सराहना की जिनकी सराहना में आपको सांप के दंश के समान लगती है? श्याम बेनेगल? अदूर गोपालकृष्णन? रामचंद्र गुहा? वाकई शेखर साहब आपकी तबियत ठीक नहीं हैl आपको सहायता की जरूरत हैl एक अच्छे मनोचिकित्सक से मिलने में कोई बुराई नहीं हैl’

जावेद अख्तर ने आगे लिखा है, ‘शरणार्थी का क्या मतलब है? क्या आप आज भी भारत में एक बाहरी के तौर पर रह रहे हैं? क्या आपको यह अपनी धरती नहीं लगती? अगर आप भारत में अभी शरणार्थी है तो आपको कहां पर रहना है पाकिस्तान में? यह मेलोड्रामा बंद करिए आप गरीब अमीर है लेकिन अकेले व्यक्ति हैंl’

Leave A Reply

Your email address will not be published.